Watch “The Lion King | HINDI | Official Trailer | Dubbed Cover By Lohit Sharma” on YouTube

Advertisements

जद, जातवाद र झगड़ै मांय, उळझ्यो बन्धु-समाज।

क्यों, जात-पांत रा सम्मेलन कराओ,हो “सरताज’?

काईं ? ईं सूं ही बण सी बात थारी, ईं सूं सर सी काज!

बळतै घर पर, रोटी सेको,आवै न थानै लाज।

सिद्धांता ने झोळ घाल्या, थे करनो चाहो राज !

(नोट-इस पोस्ट को राजनैतिक पार्टियों द्वारा आयोजित विभिन्न जातिय सम्मेलनों से जोड़ कर न देखा जाये)

मुक्तक

चल रहा था देश में जब वाद, विवाद,तकरार,

झटपट टीवी चैनलों ने बिठाये छुटभैया चार,

खूब घसीटा मुद्दे को और खूब किया प्रचार,

खूब मिले थे विज्ञापन और खूब चला व्यापार।

फेसबुक के वीरों को भी, चढा दिमागी बुखार,

तिल को ताड़ बना डाला,उगला अपच बाहर।

सलामें वतन

सलामें वतन,तुझ पर वारे जाएं हम,
तुझ पर जान भी दे डालें, ये खाते कसम।

ओ खुशीयों के चमन,
यह कहता है मन,
तेरी धरती पर हो मेरे सो-सो जनम।
सलामें वतन,तुझ पर वारे जाएं हम,
तुझ पर जान भी दे डालें, ये खाते कसम।

शश्य श्यामल सा तन
गंगा सा तेरा मन
नज़रों में अमन,
सागर छूते कदम,
झूमे सारे मौसम
सलामें वतन,तुझ पर वारे जाएं हम,
तुझ पर जान भी दे डालें, ये खाते कसम।

आंचल में पले तेरे कितने धरम।
जुदा है जुबानें, जुदा है रसम,
जुदा है इबादत, जुदा है धरम
देखें तेरा चमन,हो जायें मगन,
फूलों की यहां हम है इतनी किसम।
सलामें वतन,तुझ पर वारे जाएं हम,
तुझ पर जान भी दे डालें, ये खाते कसम।

बलिदानों का रंग,
तीन रंगों का संग,
रंगों ऐसे ये रंग,
लगे माटी भी अंग,
घुले जीवन के संग
उठे मन में तरंग,
कि रंग ये बोले,
पहनो बसंती चोले।
सलामें वतन,तुझ पर वारे जाएं हम,
तुझ पर जान भी दे डालें, ये खाते कसम।

– अशोक जोशी